Share
Please give your valuable feedback
Sanskrit Sansthan facebook fan page
Sanskrit Sansthan Youtube channel

   
 
परिचय
   
   
 

उत्तर प्रदेश शासन ने प्रदेश में संस्कृत, पालि एवं प्राकृत भाषा के सम्यक् विकास एवं प्रोत्साहन हेतु उत्तर प्रदेश संस्कृत संस्थान की स्थापना 31 दिसम्बर 1976 को की है। संस्थान के कार्य संचालन हेतु समय-समय पर शासन द्वारा अध्यक्ष एवं निदेशक की नियुक्ति की जाती है। उ० प्र० शासन में संस्कृत संस्थान का प्रशासनिक विभाग, भाषा विभाग है। अध्यक्ष के निर्देशन पर निदेशक अपने कर्मचारियों के माध्यम से समस्त कार्यों का निष्पान करते हैं।

संस्थान में निम्न अधिकारी / कर्मचारी सम्प्रति कार्यरत हैं।

 

 

  • . अध्यक्ष - 01
  • . निदेशक - 01
  • . वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी - 01
  • . प्रशासनिक अधिकारी - 01
  • . सर्वेक्षक - 02
  • . प्रधान सहायक - 01
  • . सहायक पुस्तकालयाध्यक्ष - 01
  • . सहायक लेखाकार - 01
  • . आशुलिपिक - 01
  • . वरिष्ठ सहायक - 01
  • . टंकक - 01
  • . वाहन चालक  - 01
  • . जेनिटर पुस्कालय - 01
  • . अर्दली - 01
  • . चपरासी - 01
  • . चौकीदार  - 01
  • . माली - 01
  • . सन्देश वाहक  - 02
  • . सफाई कर्मचारी - 01

 

उत्तर प्रदेश संस्कृत संस्थान द्वारा अपनी समस्त योजनाओं के क्रियान्वयन हेतु समाचार पत्र में विज्ञापन दिया जाता है। उसके अनुसार प्राप्त आवेदन पत्रों पर उच्च स्तरीय समिति द्वारा निर्णय लिया जाता है। उ० प्र० संस्कृत संस्थान द्वारा संस्कृत के उत्थान के लिए कई योजनाएं चलाई जा रही हैं। जिनका विवरण महत्वपूर्ण गतिविधियों के अर्न्तगत दिया गया है।